महानिदेशक संदेश

भारतीय रेल के सिविल इंजीनियर्स के प्रमुख प्रशिक्षण संस्‍थान से जुड़ने का मुझे सौभाग्य प्राप्‍त हुआ है। इस प्रशिक्षण संस्‍थान ने हाल में अत्‍यधिक विकास किया है। भारतीय रेल में सिविल इंजीनियर पूरे देश में बिछाए गए रेलपथ एवं पुल, सेवा भवनों एवं आवासीय व्‍यवस्‍था जैसी प्रमुख संरचनाओं का रखरखाव कर रहे हैं, जिसके लिए उच्‍चस्‍तरीय समर्पण, अद्यतन ज्ञान एवं भागीदारी की आवश्‍यकता होती है। हाल ही में इरिसेन ने ई- लर्निंग मॉडयूल प्रारंभ किया है जो भारतीय रेल के सभी इच्‍छुक सिविल इंजीनियरों के लिए दूरस्‍थ प्रशिक्षण सुविधा प्रदान करता है।

यह संस्‍थान आईआरएसई परिवीक्षार्थियों को सक्षम सिविल इंजीनियर बनाने के साथ-साथ उनके सेवाकाल में प्रशिक्षण देने का कार्य कर रहा है। यह कार्य छोटे पौधे का बड़े वृक्ष में परिवर्तन किया जाने जैसा है।

मेरा प्रयास रहेगा कि नए प्रासंगिक विषयों को शामिल करते हुए इस प्रमुख संस्थान को गौरव के नए स्तर तक ले जाया जाए।


संतोष कुमार अग्रवाल
महानिदेशक / इरिसेन